भारतीय समाज, व्यायाम, ध्यान, योग के लिए प्रेरित, और उसके फायदे।



कुछ महीनों से, जब से कोरोना महामारी आई है। हमारे समाज, व्यायाम, ध्यान, योगा के लिए जागृत हो गया है। कुल मिलाकर कहे तो कोरोना ने हमें बहुत बड़ी सीख दी है। जिसके फलस्वरूप हमें अपने भारतीय समाज और संस्कृति पर फिर से विचार करने के लिए मजबूर कर दिया।
    वैसे तो हमारे वेदों ग्रंथों ने पहले से ही इन बातों के बारे में बताया गया है। लेकिन लोगों की व्यस्त दिनचर्या में समाज इसका पालन नहीं कर पाता। हमारे रीति रिवाज, संस्कृति और ग्रंथों के अनुसार हमारे शरीर को इसी तरीके से ही बनाया गया है। वेदों और ग्रंथों में भी लिखा गया है अगर हम सुबह उठकर व्यायाम, ध्यान, और योगा करें तो हमारा शरीर स्वास्थ्य रहेगा। और यही हमारी भारतीय समाज और संस्कृति है।

ध्यान (मेडिटेशन) के फायदे।
अमेरिका में सान डियागो स्थित कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने कहा यदि हर कोई अपनी दिनचर्या में केवल 20 मिनट निकालकर सुबह एक्सरसाइज करें तो उसके बहुत सारी बीमारियां खत्म हो जाती है।
हमारे शरीर में कुछ ऐसे रसायन होते हैं जो मस्तिष्क के खास हिस्से में विशिष्ट ग्रंथियों से निर्मित होते हैं इन्हें न्यूरोट्रांसमीटर कहते हैं। इन रसायनों की कमी से या अधिकता से कई प्रकार के रोग होते हैं जैसे कई प्रकार के मानसिक रोग। हमारी मस्तिष्क में हर सेकंड में 1 लाख केमिकल रिएक्शन होते हैं, जो हमारी शरीर की गतिविधियां को नियंत्रित करता है।
         हमारी मस्तिष्क मैं कई तरह के रसायन होते हैं इनमें से कुछ मुख्य रसायन है। जैसे सेरोटोनिन, डोपामाइन, एंडोफ्रिंश आदि। जिसकी थोड़ी सी अधिक मात्रा या कम मात्रा होने पर कई प्रकार के मानसिक रोग हो जाते हैं।
    नियमित ध्यान योग करने से हमारे मस्तिष्क के रसायन सामान्य हो जाते हैं जिससे मस्तिष्क अपना काम सुचारू रूप से कर सके। ध्यान करने से और कई फायदे हैं जैसे मनुष्य को शांत रखना, काम में ध्यान लगाना, याददाश्त बढ़ाना आदि।

Read more   समाज में बढ़ता, मानसिक रोग। An increasing mental disease in the society.

व्यायाम के फायदे।
व्यायाम करने के अनेक फायदे हैं जैसे-

ऊर्जा लेवल को बढ़ाना।
अगर हर कोई रोज केवल अपने लिए 20 मिनट का समय निकाल ले और व्यायाम करें, तो उससे हमारा ऊर्जा लेवल बढ़ जाता है ताकि हम अपने रोज की दिनचर्या में चुस्त दुरुस्त बने रहे।

याददाश्त तेज होना।
नियमित योग ,ध्यान ,व्यायाम करने से हमारी याददाश्त तेज होती है। क्योंकि जब हम व्यायाम करते हैं तो हमारा ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होता है और हमारे मस्तिष्क में ऑक्सीजन और ब्लड का सरकुलेशन अच्छे से होता है जिससे हमारी याददाश्त तेज होती है। हमारे मस्तिष्क के लिए ऑक्सीजन बहुत जरूरी है हमारे शरीर का 20% ऑक्सीजन का उपयोग मस्तिष्क करता है तो व्यायाम करने से मस्तिष्क को ऑक्सीजन अधिक मात्रा में मिलती है।

इम्यून सिस्टम का बढ़ना।
जब हम व्यायाम करते हैं तो हमारे अंदर जो टॉक्सिन होते हैं वह पसीने के रूप में या कार्बन डाइऑक्साइड के रूप में बाहर निकलते हैं जिससे हमारा इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है और जिससे बीमारियों से लड़ने के लिए हमारा इम्यून सिस्टम सक्षम हो जाता है।

मोटापा कम होना।
नियमित व्यायाम करने से हमारे मस्तिष्क से जो अच्छे रसायन होते हैं उनका स्राव अच्छे से होता है। जिससे हमारी शरीर कई अंग सुचारू रूप से कार्य करते हैं, जिससे हमारे शरीर में बढ़ रहे खराब रसायन को पसीने के रूप में या अन्य तरीके से शरीर से बाहर कर देता है और हमारा डाइजेशन सिस्टम अच्छा रहता है जिससे शरीर में बढ़ रहा मोटापा कम हो जाता है।

आत्मविश्वास बढ़ना।
जब भी हम व्यायाम करते हैं तो हमारा ब्लड सरकुलेशन बहुत अच्छे से होता है और हमारे शरीर में तेज दिखाई देने लगता है, और साथ में काम में मन लगता है और दिमाग भी चुस्त रहता है जिससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है।
     कुल मिलाकर अगर हम बात करें तो हमें ध्यान योग और व्यायाम से बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे_
दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है।
प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर रखता है।
तनाव और अवसाद से दूर रखता है।
शरीर के वजन को नियंत्रित करता है।
मधुमेह उच्च रक्तचाप से दूर रखता है।
मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द आदि।
अच्छी नींद आना।
     ऐसे बहुत सारी बीमारियां हैं जो केवल व्यायाम के माध्यम से दूर की जा सकती है
     वैसे भी हमारे भारतीय समाज और संस्कृति मैं ध्यान योगा और व्यायाम को विशेष स्थान दिया गया है लेकिन मनुष्य की भागदौड़ वाली दिनचर्या में लोगों को समय निकालना मुश्किल हो जाता है। लेकिन सोचिए केवल रोज के 20 मिनट आपकी जिंदगी बदल सकता है। और हम सब एक खुशहाल जिंदगी जी सकते हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

3 टिप्पणियां

If you have any doubt, let me know.